सामाजिक आर्थिक प्रतिबद्धता

समुदाय विकास

  • 2 पंचायत क्षेत्रों के 4 ग्राम, जिनमें हमारी रिफाइनरी अवस्थित है, एमआरपीएल द्वारा अपनाए गए हैं.
  • जिला पंचायत और ग्राम पंचायत के साथ सम्मिलित रूप से बनाई गई एकीकृत विकास योजना को कार्यान्वित किया गया है.

समुदाय विकास के तहत व्याप्त विविध क्षेत्र निम्नलिखित हैं:


शिक्षा:

  • एमआरपीएल स्कूल कंपनी से प्रति वर्ष से लगभग रु. 1.5 मिलियन का अनुदान प्राप्त करता रहता है और लगभग 65 प्रतिशत बच्चें आस-पास के स्थानों से यहॉ शिक्षा प्राप्त करने के लिए आते हैं।
  • पणंबूर में मत्स्य व्यवसायियों के गांव में स्थित ग्रामीण स्कूल और अन्य पड़ोसी स्कूलों का श्रेणी-उन्नयन.
  • पाठशालाओं को फर्नीचर और कंप्यू‍टरों का दान
  • मध्‍याह्न भोजन कार्यक्रम हेतु विविध स्कूलों को प्रेशर कुकरों का दान
  • 321 विद्यालयों के 190 मेधावी विद्यार्थियों को छात्रवृत्तियां

 

स्‍वास्‍थ्‍य :

  • चेलैरू ग्राम में स्थित पुनर्वास उपनिवेश में एक नि:शुल्क प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चलाना
  • मंगलूर में स्थित रेडक्रास सोसाइटी को एंबुलेंस का दान
  • विकलांगों के लिए कृत्रिम अवयव शिविर और नि:शुल्कि अवयव की व्यवस्था ।
  • नि:शुल्क चिकित्सा और नेत्र जांच शिविर
  • एमआरपीएल अस्प‍ताल में आस-पास में बसे समुदाय की खातिर चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करना
  • जिला स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के मलेरिया, पोलियो और फाइलेरिया निर्मूलन कार्यक्रमों को सहायता पहुंचाना

 

पेय जल की सुविधा:

  • 10 ग्रामों के समूह को पेय जल की सुविधा प्रदान करने वाली राजीव गांधी पेय जल परियोजना को वित्तीय सहायता प्रदान करना
  • मेर्मुदे गांव में पेय जल की सुविधा प्रदान करना
  • विस्थापित पुनर्वास उपनिवेश परियोजना हेतु कैकंबा से पानी ले जाने के लिए लगभग 5 कि.मी. की पानी की पाइपलाइन की व्यवस्था
  • गांवों में बोरवेलों का उत्ख‍नन

 

बुनियादी सुविधाएं :

  • ग्रामीण सड़कों की ब्लै‍क टैपिंग
  • बाला गांव में बस शेल्टर का निर्माण
  • कुत्तेतूर गांव में पुल का निर्माण
  • कलवार गांव में सड़क का निर्माण
  • बाला गांव में समुदाय भवन का निर्माण
  • गांवों में और मंगलूर महानगर के क्षेत्र में बाढ़ के पानी की मुख्या नालियों का कीचड़ निकालना

 

खेल-कूद, पर्यावरण संबंधी और अन्य क्रिया-कलाप:

  • खेल-कूद में प्रशिक्षण को आगे बढ़ाने के लिए सहायता प्रदान करना
  • आस-पास के गांवों में पर्यावरण, अग्निशमन और सुरक्षा संबंधी जागृति में सार्वजनिक जागृति कार्यक्रम का आयोजन करना
  • समुद्र के किनारे की सफाई के लिए सहायता देना
  • मनोविकल बच्चों के विशेष स्कूल के लिए एक अध्यापक की व्यवस्था करना
  • पीएसपीबी के अधीन क्रिकेट जैसे कार्यक्रमों का आयोजन करना

 

स्‍व-सहाय दल (एसएचजी )

निर्धन और शोषित पड़ोसी लोगों की सहायता करने के लिए उद्देश्‍य से महिला मंडल जैसे स्व-सहाय दलों के विविध कौशल विकासन कार्यों के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है. उन्हें ऐसे क्रिया-कलापों में भी सहायता दी जा रही है जो आय उत्पन्न करने में उनकी मदद करते हैं.