सुरक्षा सुविधाएं

आग लगने की चेतावनी देने वाली घंटी

फायर अलार्म डिटेक्टर्स और मैनुअल कॉल पाइंट:
रिफाइनरी के विभिन्न मानव रहित और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में पता लगने पर अग्नि नियंत्रण कक्ष पेनल को अलार्म से सूचित करने के लिए ही बनाए गए स्वचालित डिटेक्टवर्स लगाए गए हैं. इसके अलावा, प्रोसेस संयंत्रों के इर्द-गिर्द हाथ से ग्लाहस तोड़ने जैसे कॉल पाइंट रखे गए हैं जिससे कि आग लगने पर हाथ से कार्य करते हुए त्वरित गति से सूचित किया जा सके. अलार्म सक्रिय होने पर नियंत्रण और रीपीटर पैनल में श्रव्ये-दृश्य माध्यम से सूचना मिलती है.

हाइड्रोकार्बन डिटेक्टर्स:
रिफाइरी के नाजुक क्षेत्रों में स्थानीय अलार्म के साथ विषैले और हाइड्रोकार्बन गैस डिटेक्टर्स लगाए हैं जिसमें हाइड्रोकार्बन का यथा शीघ्र पता लगाने के लिए डीसीएस प्रणाली के जरिए नियंत्रण कक्षों को एक साथ सूचित करने की अतिरिक्त सुविधा भी है. इसके अतिरिक्त, हमारे पास पोर्टेबल एवं सहज रूप से सुरक्षित गैस डिटेक्टर्स भी हैं जिसे अपने साथ लेकर कर्मचारी गैस रिसाव का पता लगाने की खातिर यूनिटों में चक्कर लगाया करते हैं.

अग्नि सुरक्षा

Mockdrill

एमआरपीएल के अग्नि सुरक्षा उपाय, भारतीय मानक ब्यूरो और तेल उद्योग सुरक्षा निदेशालय के मानकों के अनुरूप हैं. अग्नि सुरक्षा उपाय, विभिन्न यूनिटों और उससे जुड़ी प्रकियाओं में निहित विभिन्न खतरों से निबटने के लिए बनाए गए हैं. अग्नि सुरक्षा प्रणाली तीन प्रकार की हैं, स्थिर स्थायपनाएं, चलते-फिरते साधन और पोर्टेबल प्रथम उपचार अग्नि शामक उपकरण.

पोर्टेबल प्रथम उपचार अग्नि शामक उपकरण:
शुष्क रासायनिक पाउडर प्रकार के और कार्बन डाई ऑक्सारईड प्रकार के विभिन्न क्षमता के अग्नि शामक, आरंभिक चरण में आग से निपटने के लिए विभिन्न स्थानों में स्थापित किए गए हैं. समर्पित रख-रखाव कर्मी, अग्नि शामक उपकरणों को अच्छी तरह से काम करने की स्थिति में रखते हैं.

प्रशिक्षण

स्थिर स्थापनाएं:
नाजुक प्रक्रियाएं संभालने वाले यूनिटों में हॉर्टन क्षेत्रों और हॉट पंपों की खातिर मध्यम गति के जल स्प्रें तंत्र और संप्लव तंत्र (डेल्यूज सिस्टिम)दिए गए हैं. रिफाइनरी में हर कहीं रखे गए अग्नि जल मॉनिटर और पानी की नलिकाएं, इस तंत्रों को और बेहतर बनाती हैं. स्थिर फोम तंत्र के अलावा कूलिंग तंत्र के साथ अस्थिर एवं स्थिर रूफ हाइड्रोकार्बन संग्रहण टैंक प्रदान किए गए हैं. केंद्रीय होस केंद्र, होस बॉक्स और होस रील्से, समर्थक तंत्र के रूप में रखे गए हैं. अग्नि जल नेटवर्क में समर्पित जल संग्रहण है जिसकी क्षमता 40,000m3 है जब कि खट्टे जल के जलाशयों से 1x 1,50,000m3 और 2 x 55,000 m3 की अतिरिक्त व्यवस्था भी है. 40.05 किलो मीटर के समग्र अग्नि जल नेटवर्क के लिए अग्नि जल पंपों के जरिए बिजली उपलब्ध कराई जाती है जो आपात कालीन स्थितियों में ऑटो स्टापर्ट सुविधा से 10 kgs/cm2 की दर से दाबानुकूलित करता है.

चलते-फिरते साधन:
चलते-फिरते साधन के तौर पर बैक अप के रूप में एक फोम नर्सर के साथ फोम टेंडर और शुष्क रासायनिक पाउडर युक्त टेंडर हैं. फोम टेंडरों में, उसके पिछले हिस्से में पंप लगाए गए होते हैं जो फोम टैंक और जल टैंक के अलावा पावर टेक ऑफ से चलता है. प्रत्येक डीसीपी में, पाउडर बाहर निकालने के लिए नाइट्रोजन बैटरियों के साथ 2000 कि.ग्रा. का पाउडर होता है. फोर्म नर्सर में 7500 लीटर का फोम टैंक होता है जो अपने खुद के गेर पंप की मदद से फोम टेंडरों की पुन: पूर्ति कर सकता है. निरीक्षण करने के लिए जीप और टाटा मोबाईल वाहनों का सहारा लिया जाता है. ट्रेलर पंप भी हैं जिनका खुले जल स्रोत में आग लगने पर अतिरिक्तह उपकरण के रूप में इस्तेीमाल किया जाता है.

संचार प्रणाली: :

आधुनिक संचार प्रणाली में शामिल हैं, टेलीफोन, न्यूमन पेजिंग तंत्र, सहज रूप से सुरक्षित वायरलेस रेडियो, पेजर्स और ध्वनि प्रवर्धक तंत्र. आपातकाल की घोषणा करते समय संबद्ध लोगों को सतर्क करने के लिए लंबी दूरी तक काम आने वाला साइरन लगाया गया है.

हम, एमआरपीएल में, सुरक्षा की खातिर समर्पित हैं और हम अपने मानवीय सुरक्षा और पर्यावरण प्रबंधन तंत्र उच्चतम मानक हासिल करने की दिशा में प्रयासरत हैं ताकि आग लगने और अन्य दुर्घटनाएं होने पर नुकसान होने से बचाया जा सके और नुकसान कम किया जा सके और पर्यावरण की सुरक्षा की जा सके.

आग लगने और आपातकालीन स्थिति से निबटने की क्रियाविधियों के लिए नीचे उल्लिखित तंत्र लागू किए गए हैं:

  • अग्नि संबंधी आदेश: आपातकालीन स्थितियों के दौरान विभिन्न विभागों / अनुभागों के कर्तव्य एवं जिम्मेदारियां विस्तृंत रूप से तय की गई हैं और अग्नि संबंध आदेश में प्रकाशित की गए हैं.
  • अग्नि कॉल आवर्तन: विभिन्न विभागों के सदस्योंत समेत गठित नामोद्दिष्ट दलों का आवर्तन किया जाता है जिससे कि आपातकालीन परिस्थितियों में अतिरिक्तं श्रम शक्ति को जुटाना सुसाध्य हो.
  • आपसी सहायता योजना: बड़े पैमाने पर आपातकालीन स्थितियां उत्प न्नक होने पर संसाधनों और श्रम शक्ति का बंटवारा करने संबंधी ख़ास उद्देश्य सेआस-पास के बड़े उद्योगों के साथ आपसी सहायता योजना बनाई गई है ।आपसी सहायता पाने वाले सदस्योंा के बीच कार्य स्थाान पर / कार्य स्थाहन से बाहर सुरक्षा अभयास के जरिए आवधिक रूप से आपसी सहायता/इमदादके जरिए दोनों उद्योगों में संभावित खतरों और अपनाए गए विभिन्न अग्नि सुरक्षा उपायों के बारे में जानकारी हासिल करना संभव होगा.
  • आपदा प्रबंधन योजना: एमआरपीएल ने सुव्यवस्थित ढंग से ऑन-साइट आपदा प्रबंधन योजना बनाई है जिसके लिए कारखाना निदेशक ने अनुमोदन दिया है. आपसी सहायता पाने वाले सदस्योंब सहित सब की प्रतिक्रिया का परीक्षण करने और आपातकाल एवं संबद्ध सेवाओं की प्रभावोत्पासदकता जानने की खातिर नकली कवायद की जाती है. समीक्षकों को नियुक्त किया जाता है तथा तंत्र में और सुधार करने की खातिर उनकी समीक्षाओं एवं सुझावों को अमल में लाया जाता है. इसके अलावा, एमआरपीएल के साथ मिलकर जिला प्राधिकारियों ने कार्य स्था न से बाहर आपदा प्रबंधन योजनाएं बनाईं हैं. कार्य स्था न के बाहर भी आपातकाल संबंधी नकली कवायद की जाती हैं.
  • समुदाय (सार्वजनिक) जागरूकता कार्यक्रम : हमारी कॉलोनी के निवासियों सहित निकटतम समुदायों और स्कूलों की खातिर वक्ते-वक्त पर सार्वजनिक जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाते हैं. वार्षिक सुरक्षा दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रम के दौरान कर्मचारियों, उनके परिजनों और निकटतम स्कूलों के लिए प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं और पुरस्काकर दिए जाते हैं.
  • सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के लिए बेहतरीन ढंग से सज्जित लाइव अग्नि शमन मैदान का इस्तेभमाल किया जाता है.
  • पूर्ण रूप से कार्यात्मक सुरक्षा एवं रख-रखाव समितियां.
  • आस-पास के उद्योगों के साथ आपसी सहायता योजना - ऑन साइट आपातकालीन योजना संबंधीनकली अग्नि प्रदर्शन बाबत दस्ताोवेज।